Thu. Jan 21st, 2021

इंडिया सावधान न्यूज़

राष्ट्र की तरक्की में सहयोग

अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया ने की लोगों से अपील, कहा- घर पर ही रहें, गांव ना जायें… नहीं तो लॉकडाउन का मकसद ही खत्म हो जाएगा कोरोनावायरस के चलते पूरे देशभर में लॉकडाउन किया गया है. राजधानी दिल्ली में दिहाड़ी मजदूरों के लिए लॉकडाउन बड़ी समस्या बन गई और ऐसे में उन्हें घर लौटने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है.

1 min read

नई दिल्ली: कोरोनावायरस के चलते पूरे देशभर में लॉकडाउन किया गया है. राजधानी दिल्ली में दिहाड़ी मजदूरों के लिए लॉकडाउन बड़ी समस्या बन गई और ऐसे में उन्हें घर लौटने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है, क्योंकि उन्हें और उनके परिवार को पैसे और खाने की समस्या से जूझना पड़ रहा है. कोरोना के चलते दिल्ली सरकार खाने और रहने के लिए इंतजार कर रही है और लगातार अपील कर रही है कि आपको दिल्ली छोड़कर जाने की जरूरत नहीं और यदि ऐसा करते हैं तो कोरोना के खतरा रहेगा. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इस मामले में ट्वीट करते हुए लिखा कि लॉकडाउन का पालन करें, बाहर निकलने में कोरोना का पूरा खतरा.
दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने लिखा, ”UP और दिल्ली – दोनों सरकारों ने बसों का इंतज़ाम तो कर दिया. लेकिन मेरी अभी भी सभी से अपील है कि वे जहां है, वहीं रहें. हमने दिल्ली में रहने, खाने, पीने, सबका इंतज़ाम किया है. कृपया अपने घर पर ही रहें. अपने गांव ना जायें. नहीं तो लॉकडाउन का मक़सद ही खत्म हो जाएगा.”

वहीं, दिल्ली के डिप्टी CM मनीष सिसोदिया ने ट्वीट में लिखा, “दिल्ली सरकार की क़रीब 100 और उत्तर प्रदेश सरकार की क़रीब 200 बसें दिल्ली से पैदल जाने की कोशिश कर रहे लोगों को लेकर जा रही है. फिर भी सभी से मेरी अपील है कि लॉकडाउन का पालन करें. कोरोना का असर नियंत्रित रखने के लिए यही समाधान है. बाहर निकलने में कोरोना का पूरा ख़तरा है.”

दिल्ली सरकार की क़रीब 100 और उत्तर प्रदेश सरकार की क़रीब 200 बसें दिल्ली से पैदल जाने की कोशिश कर रहे लोगों को लेकर जा रही है. फिर भी सभी से मेरी अपील है कि लॉकडाउन का पालन करें. कोरोना का असर नियंत्रित रखने के लिए यही समाधान है. बाहर निकलने में कोरोना का पूरा ख़तरा है.

बता दें कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा कि दिल्ली में अभी 39 मामले हैं और स्थिति काफ़ी नियंत्रण में है. उन्होंने कहा कि अगर 1,000 केस भी रोज़ाना आए तो भी हम तैयार हैं. केजरीवाल ने लॉकडाउन से परेशान लोगों के लिए कहा कि आज से 2 लाख लोगों के खाने का इंतजाम किया गया है. उन्होंने कहा कि किसी को दिल्ली छोड़कर जाने की जरूरत नहीं है. खाने का इंतजाम किया जा रहा है. इसके अलावा केजरीवाल ने कहा 8 लाख लोगों की पेंशन का पैसा उनके खातों में पहुंच गया है. वृद्धावस्था ,विधवा और विकलांग पेंशन के लिए करीब 5-5 हज़ार रुपये दिए जा रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *