Thu. Oct 22nd, 2020

इंडिया सावधान न्यूज़

राष्ट्र की तरक्की में सहयोग

इधर राफेल आया भारत , उधर चीन ने युद्धपोत पर तैनात फाइटर जेट्स की बढाई क्षमता

1 min read

इधर राफेल आया भारत , उधर चीन ने युद्धपोत पर तैनात
फाइटर जेट्स की बढाई क्षमता

भारत के अंबाला एयरफोर्स स्टेशन पर फ्रांस से पांच राफेल आए, उधर चीन ने अपने युद्धपोत पर तैनात फाइटर जेट्स की क्षमता को बढ़ा लिया. इस क्षमता के साथ ही अब चीन रात में भी हमला करने में सक्षम हो गया है.

स्पुतनिक न्यूज में प्रकाशित खबर के मुताबिक चीन ने अपने दो युद्धपोत पर तैनात फाइटर जेट्स जे-15 को रात में रीफ्यूलिंग करने की क्षमता विकसित कर ली है. इसे बडी रीफ्यूलिंग कैपेबिलिटी कहते हैं.

यानी अब एक जे-15 फाइटर जेट से दूसरे जे-15 फाइटर जेट को आसमान में ही ईंधन मिल जाएगा. इस क्षमता को विकसित करने के बाद अब चीन 24 घंटे किसी भी समय हमला करने के लिए तैयार हो गया है.

चीन ने इस तकनीक को विकसित करने के लिए जे-15 में कुछ बदलाव किए हैं. इसके बाद चीन ने अपने युद्धपोत लियाओनिंग और शैनडोंग पर तैनात जे-15 को अपग्रेड कर लिया है.

ग्लोबल टाइम्स में छपी खबर के अनुसार पीएलए नेवल मिलिट्री स्टडीज रिसर्च इंस्टीट्यूट के रक्षा विशेषज्ञ झांग जुंशी ने बताया कि अब चीन किसी भी मौसम में किसी भी समय अपने जे-15 में ईंधन भर सकता है. रात में ईंधन भरने की क्षमता विकसित करना एक बड़ी उपलब्धि है.

खबरों की मानें तो झांग जुंशी का कहना है कि इस क्षमता को विकसित करने के बाद चीन किसी भी समय किसी भी तरह के हमले को अंजाम दे सकता है. रीफ्यूलिंग तकनीक विकसित करने की वजह से जे-15 अब ज्यादा हथियार ले जा सकेंगे. जबकि, पहले फ्यूल बचाने के लिए कम हथियार लोड किए जाते थे.

चीन के युद्धपोत लियाओनिंग और शैनडोंग पर J-15 फाइटर जेट्स की लैंडिंग और टेकऑफ के लिए जंप रैक डेक्स हैं. वह कैटापॉल्ट जैसी पुरानी तकनीक का उपयगो नहीं करता. इससे फाइटर जेट को उड़ने और लैडिंग में ज्यादा मदद मिलती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *