Tue. Apr 20th, 2021

इंडिया सावधान न्यूज़

राष्ट्र की तरक्की में सहयोग

मोहर्रम पर सरकार के गाइडलाइन के खिलाफ धरने पर बैठे मौलाना कल्बे जवाद, दो दिन का दिया अल्टीमेटम

1 min read

उत्तर प्रदेश लखनऊ मोहर्रम में ताजियादारी और अजादारी पर लगी पाबंदियों के खिलाफ शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जवाद शनिवार को लखनऊ में धरने पर बैठ गए. मौलाना जवाद लखनऊ के गुफरान मॉब इमामबाड़े में सैकड़ों लोगों के साथ दो दिन के धरने पर बैठे. उनके साथ धरने में तमाम दूसरे शिया धर्मगुरु भी शामिल हुए. धरना देने से पहले मौलाना कल्बे जवाद ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि सरकार से लगातार हम अजादारी और ताजियादारी की परमिशन मांगते रहे लेकिन हमारी नहीं सुनी गई.

मौलाना ने कहा कि मोहर्रम की बुनियाद लखनऊ से ही है. पूरी दुनिया में यहां की अजादारी मशहूर है. हम सरकार से चुनिंदा लोगों के साथ अजादारी और ताजियादारी की परमिशन चाहते थे. हमने सरकार से यह कहा था कि वो हमें इमामबाड़े में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मजलिस करने की इजाजत दे लेकिन सरकार ने हमारी नहीं सुनी. यही नहीं सरकार ने घरों में भी ताजिए रखने की इजाजत नहीं दी.

उन्होंने कहा कि सरकार ने केवल पांच लोगों की ही इजाजत दी. जबकि हम यह चाहते थे कि सोशल डिस्टेंसिंग के साथ लोगों को बिठाया जाए और मोहर्रम में अजादारी की जाए. लेकिन किसी ने नहीं सुनी. उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में हड़कंप मचा हुआ है. ताजिया बनाने वालों को परेशान किया जा रहा है. जो लोग अपने घरों में ताजिए रख रहे हैं उनपर पर एफआईआर की जा रही है. मौलाना कल्बे जवाद ने कहा कि मैंने इजाजत के लिए रक्षा मंत्री और लखनऊ के सांसद राजनाथ सिंह से लेकर केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी से भी मुलाकात की.
मौलाना ने कहा कि मैंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी दो बार मिलकर इजाजत मांगी लेकिन सरकार ने हमारी नहीं सुनी. अब हम सरकार को दो दिन का अल्टीमेटम देते हैं. अगले दो दिन तक मैं धरना करूंगा और सरकार से गुजारिश करूंगा कि वो अपनी गाइडलाइन में संशोधन करे, और लखनऊ के बड़े इमामबाड़े में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ अजादारी की परमिशन दी जाए. इसके साथ ही घरों में ताजिया रखने की भी इजाजत दी जाए. इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि भीड़ ना जमा हो इसका एहतराम हम सब को करना है लेकिन मोहर्रम ना मनाया जाए ऐसा हो नहीं सकता.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *