Thu. Oct 22nd, 2020

इंडिया सावधान न्यूज़

राष्ट्र की तरक्की में सहयोग

हाथरस जाने से TMC सांसदों को पुलिस ने रोका, धक्कामुक्की में गिरे डेरेक ओ ब्रायन

1 min read

हाथरस को लेकर ना सियासत थम रही है और ना ही हंगामा. हाथरस के डीएम का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें वो परिवारवालों को धमकी देते दिख रहे है. इस मामले के सामने आने के बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर हमला बोला है. उन्होंने सवाल उठाए हैं कि आखिर पीड़िता के गांव जाने से क्यों रोका जा रहा है.

2: 45 PM: टीएमसी की सांसद प्रतिभा मंडल ने कहा कि ममता बनर्जी ने परिवार के साथ अपनी संवेदना व्यक्त करने के लिए हमें यहां भेजा, मैं एक दलित हूं, मैं समझती हूं कि इस देश में दलित पर क्या बीत रही है और हमने देखा कि कैसे बेटी का शरीर जला दिया गया था, अब कल्पना करें कि परिवार के साथ ये लोग क्या कर रहे होंगे.

टीएमसी सांसद प्रतिभा मंडल ने कहा कि योगी की पुलिस ने हमें धक्का दिया, हमारे साथ हाथापाई की और बिना किसी आदेश के हमें रोक दिया. हम सांसद हैं, हमारा काम जरूरत के समय इंसानों के साथ खड़ा होना है. मैं गांधी जयंती पर कहना चाहती हूं कि यह वह देश नहीं है, जिसे आप चाहते थे.

1:10 PM: हाथरस की घटना पर सचिन पायलट ने कहा कि पहली बार देखा कि पुलिस, प्रशासन और सरकार ने उत्तर प्रदेश में जानबूझकर सबूत निपटाने की कोशिश की और वहां के ज़िला कलेक्टर ने उनके परिजनों को धमकाने की कोशिश की. मुख्यमंत्री और पूरे प्रशासन ने विपक्ष की आवाज को दबाने में कोई कसर नहीं छोड़ी.

1:02 PM: टीएमसी की महिला सांसद ममता ठाकुर से भी पुलिस ने बदसलूकी की. मीडिया से बात करते हुए ममता ठाकुर ने कहा कि हम परिवार से मिलने जा रहे थे, लेकिन हमें अनुमति नहीं दी जा रही. जब हमने जोर दिया, तो महिला पुलिसकर्मियों ने हमारे ब्लाउज को खींचा और हमारी सांसद प्रतिमा मंडल पर लाठीचार्ज किया. वह नीचे गिर गईं. पुरुष पुलिस अधिकारियों ने उन्हें (प्रतिमा मंडल) छुआ. यह शर्मनाक है.

12:35 PM: पीड़िता के परिवार से मिलने की जिद पर अड़े टीएमसी सांसदों और पुलिस के बीच धक्कामुक्की हुई है. इस दौरान टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन गिर पड़े हैं. पुलिस, टीएमसी प्रतिनिधिमंडल को गांव के अंदर जाने से रोक रही है.

12:13 PM: पूरे गांव पर सख्त पहरा है. मीडिया को गांव के बाहर ही रोक दिया है. एसआईटी की टीम मौके पर मौजूद है.

12:09 PM: पीड़िता के परिवार से मिलने जा रहे टीएमसी सांसदों को पुलिस ने गांव के बाहर रोक दिया है. सांसदों के इस प्रतिनिधिमंडल में टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन भी हैं.

11.20 AM: हाथरस गैंगरेप के विरोध में देशभर में प्रदर्शन हो रहा है. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में समाजवादी पार्टी (सपा) के कार्यकर्ता सड़क पर उतर आए हैं और सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं.

11:00 AM: हाथरस केस पर केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले कल यानी 3 अक्टूबर को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलेंगे. इस दौरान रामदास अठावले मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाने की मांग करेंगे.

9:50 AM: सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी ने मांग किया कि यूपी सरकार महिलाओं को शस्त्र लाइसेंस देने की घोषणा करें और महिलाओं द्वारा शस्त्र लाइसेंस आवेदन करने पर 10 दिन के अंदर लाइसेंस दिलाने का कार्य करें,भाजपा सरकार में बेटी बचेंगी नहीं सिर्फ बेटी जलेगी अब बेटियां अपनी सुरक्षा स्वयं करेगी.

9:49 AM: कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि लखनऊ हाई कोर्ट का एक मजबूत और उत्साहजनक आदेश आया है. पूरा देश हाथरस बलात्कार पीड़िता के लिए न्याय की मांग कर रहा है. यूपी सरकार द्वारा उसके परिवार के साथ किए गए काले, अमानवीय और अन्यायपूर्ण व्यवहार के बीच हाई कोर्ट का आदेश आशा की किरण है.

इस बीच हाथरस पीड़ित के घर जा रही निर्भया केस की वकील सीमा कुशवाहा की गांव के बाहर पुलिस बैरिकेटिंग पर एडीएम से तीखी तकरार का वीडियो सामने आया है. तनातनी के बीच सीमा कुशवाहा ने एडीएम से कह दिया कि तुम जैसे लोगों के कारण रेप होते हैं. सीमा कुशवाहा ने कहा है कि हाथरस की बेटी को पुलिस ने पेट्रोल डालकर जलाया है.

प्रशासन ने आजतक की टीम के साथ भी की बदसलूकी
हाथरस की निर्भया के लिए इंसाफ की जंग जारी है, लेकिन इंसाफ की इस लड़ाई के बीच उत्तर प्रदेश का प्रशासन और पुलिस किस तरह का व्यवहार कर रहा है ये किसी से छिपा नहीं है. हाथरस में पीड़िता के गांव में ग्राउंड रिपोर्ट के लिए मौजूद आजतक संवाददाता चित्रा त्रिपाठी के साथ कुछ अधिकारियों ने बदसलूकी की है. हालांकि, कैमरे के सामने अधिकारियों की बोलती बंद हो गई.

प्रियंका ने प्रशासन को बताया अत्याचारी
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने हाथरस के डीएम के वायरल वीडियो पर कहा कियूपी सरकार किसी को पीड़िता के गांव जाने से क्यों रोक रही है, उसका जवाब यहां है? पीड़िता के परिवार को हाथरस डीएम जाकर धमका रहे हैं. न मीडिया जा पायेगा, न हम लोग तो यूपी सरकार पीड़िता के परिवार को खुलकर धमका पाएगी. ये लोग अत्याचारी हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *