Sun. Nov 29th, 2020

इंडिया सावधान न्यूज़

राष्ट्र की तरक्की में सहयोग

बलरामपुर में पुलिस पर पथराव,फाड़ी वर्दी, दो दारोगा समेत कई सिपाही घायल

1 min read

यूपी के बलरामपुर जिले में विवेचना में गई पुलिस टीम पर मनबढ़ों ने पथराव किया। विवेचक उप निरीक्षक की वर्दी फाड़ डाली। सरकारी असलहा छीनने का भी प्रयास किया गया। पथराव में दो उप निरीक्षक समेत आधा दर्जन पुलिस कर्मी जख्मी हुए हैं। एसआई की तहरीर पर नौ लोगों के विरुद्ध मारपीट एवं सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने का केस दर्ज हुआ है। घायल पुलिस कर्मियों का शिवपुरा सीएचसी में चिकित्सीय परीक्षण कराया गया है। घटना शुक्रवार सुबह उपटहवा गांव में हुई है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार उपटहवा निवासी दुर्गा प्रसाद तिवारी की पत्नी कोयला देवी का पड़ोसी चंद्र प्रकाश से गुरुवार सुबह विवाद हो गया था। कोयला देवी का कहना है कि उनकी जमीन पर पड़ोस के कुछ लोग नल की बोरिंग करा रहे थे। आरोप है कि नल गाड़ने से राकने पर चंद्र प्रकाश व परिजनों ने मिलकर कोयला देवी को बुरी तरह पीटा था। कोयला देवी ने चंद्र प्रकाश सहित नौ लोगों के विरुद्ध गुरुवार दोपहर थाने में एनसीआर दर्ज कराया। यह बात चंद्र प्रकाश आदि को देर शाम पता चली।

आरोप है कि चंद्र प्रकाश आदि ने गुरुवार शाम छह बजे कोयला देवी को घर में घुसकर बुरी तरह पीटा। आरोप यह भी है कि चंद्र प्रकाश ने कोयला देवी का ब्लाउज फाड़ दिया तथा अभद्रता की। कोयला देवी ने गुरुवार रात तहरीर दी तो पुलिस ने एनसीआर को धारा बढ़ाकर एफआईआर में तब्दील कर दिया।
शुक्रवार सुबह उप निरीक्षक विवेचनाधिकारी कृष्णानंद पांडेय, एसआई शेखर प्रताप साहिनी, कांस्टेबल सुशील कुमार, रमेश प्रसाद व महिला कांस्टेबल बेबी यादव उपटहवा पहुंची।

जानकारी के अनुसार विवेचक कृष्णानंद ने पीड़िता कोयला देवी से पूछताछ की। वह जैसे ही पीड़िता के घर से निकले वैसे ही अभियुक्तों ने पुलिस टीम पर पथराव शुरू कर दिया। विवेचना अधिकारी के साथ गए सभी पुलिस कर्मी चोटिल हो गए।

एसआई कृष्णानंद का आरोप है कि मोनू नामक युवक ने उनकी सरकारी पिस्तौल छीनने की कोशिश की। सभी ने मिलकर उनकी सरकारी वर्दी फाड़ दी। काफी चिरौरी-मिनती के बाद उनकी जान बची। आरोप है कि महिलाएं छत से चढ़कर पुलिस कर्मियों पर पथराव कर रही थी। घायल पुलिस कर्मी किसी तरह जान बचाकर भाग निकले।

सूचना पाकर प्रभारी निरीक्षक जयदीप दुबे ने घटना स्थल पहुंचकर मामले की जानकारी ली। उनके साथ भारी पुलिस फोर्स थी। प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि विवेचनाधिकारी कृष्णानंद को गंभीर चोंटे आई हैं। सभी को चिकित्सीय परीक्षण के लिए सीएचसी शिवपुरा भेजा गया है। कृष्णानंद की तहरीर पर चंद्र प्रकाश, उनकी पत्नी, बेटी, मोनू व कन्हैया लाल समेत नौ लोगों के विरुद्ध केस दर्ज किया गया है। सभी अभियुक्त घर छोड़कर फरार है। उनकी तलाश की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *