Sat. May 15th, 2021

इंडिया सावधान न्यूज़

राष्ट्र की तरक्की में सहयोग

एमपी : महिला ने दो बेटों को जहर देकर खुद भी खाया, अस्पताल पहुंचने से पहले मां की मौत, बच्चों की हालत गंभीर

1 min read

एमपी : महिला ने दो बेटों को जहर देकर खुद भी खाया, अस्पताल पहुंचने से पहले मां की मौत, बच्चों की हालत गंभीर

मध्य प्रदेश के खरगोन में एक महिला ने अपने दो बच्चों के साथ जहर खा लिया. महिला को उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई, जबकि दोनों बच्चे अभी भी जिंदगी और मौत से जंग लड़ रहे हैं. वहीं महिला की मौत की जानकारी मिलने पर पोस्टमॉर्टम हाउस पहुंचे मायका पक्ष के लोगों ने जमकर हंगामा किया. मृतका के भाई ने ससुराल वालों पर मानसिक और शारीरिक उत्पीड़न के आरोप लगाते हुए हत्या की बात कही है.

जिले के भगवानपुरा थाना क्षेत्र के पिपल्याबावड़ी में दिलदहला देने वाली घटना हुई. यहां के रहने वाले अमर सिंह की 28 वर्षीय पत्नी गयाबाई ने पहले अपने एक वर्ष के बेटे आशीष और पांच वर्षीय बेटे गणेश को जहर खिलाया और बाद में खुद भी जहर का सेवन कर लिया. जहर जब तीनों के शरीर में फैला तो वे बेहोश हो गए. तीनों की तबियत बिगड़ने पर परिवार के लोग उन्हें उपचार के लिए भगवानपुरा अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां तीनों की गंभीर हालत को देखते हुए उन्हें उपचार के लिए जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया.

जिला अस्पताल तक पहुंचने के दौरान गयाबाई की मौत हो गई, जबकि दोनों बच्चों का उपचार अभी जारी है. मामले की जानकारी मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंच गई. पुलिस ने महिला के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजने के साथ ही मामले की जांच शुरू कर दी. वहीं जब मायके वालों को इसकी जानकारी हुई, तो वे पोस्टमॉर्टम रूम पहुंच गए. यहां पर महिला के शव को देख वे गुस्से से आग बबूला हो गए और हंगामा करना शुरू कर दिया. हंगामे की सूचना पर पुलिस मौके पर आ गई, पुलिस ने मायके वालों को समझा बुझाकर शांत कराया.

वहीं मृतका गयाबाई के भाई का कहना है कि उसकी बहन के साथ मारपीट हुई है. उसकी लाश पर काफी सारी चोट के निशान हैं. उसने बताया कि बीते दिन बहन के ससुराल से फोन आया था. ससुरालजनों का कहना था कि वह कुछ काम नहीं करती है, उसे यहां से ले जाओ. इसे कुछ देर बाद ही फोन आ गया, कि बहन ने जहर खा लिया है. उसने कहा कि ऐसा कैसे हो सकता है कि महज 15 मिनट में ही उसने जहर खा लिया. उसने कहा कि ससुराल वाले मारपीट करते थे, इस मामले में जांच होनी
चाहिए.

जिला अस्पताल पुलिस चौकी इंचार्ज तेजराम डावर के अनुसार गयाबाई को जब जिला अस्पताल लाया गया था, तब उसकी मौत हो चुकी थी. दोनों बच्चों की हालत को गंभीर देखते हुए उन्हें उपचार के लिए इंदौर के एमवाय अस्पताल में रेफर कर दिया गया है. चौकी इंचार्ज ने बताया कि इस मामले की सूचना आलाधिकारियों को दे दी गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *