Sat. May 15th, 2021

इंडिया सावधान न्यूज़

राष्ट्र की तरक्की में सहयोग

ऐ प्यारी नदी, मुझे अपने में समा लो, मैं बस बहते रहना चाहती हूं.

1 min read

ऐ प्यारी नदी, मुझे अपने में समा लो, मैं बस बहते रहना चाहती हूं.

गुजरात ये अजीब सा वाकया है। मामला गुजरात के अहमदाबाद शहर का है। एक शादीशुदा महिला ने साबरमती नदी में कूदकर खुदकुशी कर ली। नाम है आयशा। उसने इससे पहले बेहद भावुक कर देने वाला वीडियो बनाया। फिर अब्बू और अम्मी से बात की और नदी में छलांग लगा दी।

आयशा अपना पर्स और मोबाइल नदी किनारे छोड़ गईं। वहीं से सारा सच सामने आया। पहले पढ़िये आयशा जो बात अपने मोबाइल में रिकॉर्ड कर गईं उसे…

‘हैलो, अस्सलाम अलेकुम, मेरा नाम है आयशा… आरिफ खान… और मैं जो कुछ भी करने जा रही हूं, अपनी मर्जी से करने जा रही हूं। इसमें किसी का जोर या दबाव नहीं है। अब बस… क्या कहें… ये समझ लीजिए कि खुदा की दी जिंदगी इतनी ही होती है और मुझे इतनी ही जिंदगी बहुत सुकून वाली मिली। और डैड, कब तक लड़ेंगे अपनों से? केस विड्रॉल कर दो। नहीं करना… आयशा लड़ाइयों के लिए नहीं बनी है। और प्यार करते हैं आरिफ से, उसे परेशान थोड़ी न करेंगे। अगर उसे आजादी चाहिए तो ठीक है वो आजाद रहे। चलो अपनी जिंदगी तो यहीं तक है। मैं खुश हूं कि मैं अब अल्लाह से मिलूंगी और उन्हें कहूंगी कि मेरे से गलती कहां रह गई?

मां-बाप बहुत अच्छे मिले, दोस्त भी बहुत अच्छे मिले। लेकिन कहीं कोई कमी रह गई, मुझ में या शायद तकदीर में। मैं खुश हूं, सुकून से जाना चाहती हूं। अल्लाह से दुआ करती हूं कि अब दोबारा इंसानों की शक्ल न दिखाए।

एक चीज जरूर सीख रही हूं कि मोहब्बत करनी है तो दो तरफा करो, क्योंकि एकतरफा में कुछ हासिल नहीं है। चलो कुछ मोहब्बत तो निकाह के बाद भी अधूरी रहती है। ऐ प्यारी सी नदी, प्रे करते हैं कि मुझे अपने में समा ले। और मेरे पीठ पीछे जो भी हो, प्लीज ज्यादा बखेड़ा मत करना।

मैं हवाओं की तरह हूं, बस बहना चाहती हूं और बहते रहना चाहती हूं। किसी के लिए नहीं रुकना। मैं खुश हूं आज के दिन… मुझे जो सवाल के जवाब चाहिए थे, वे मिल गए। और मुझको जिसको जो बताना था सच्चाई वो बता चुकी हूं। बस काफी है, थैंक्यू। मुझे दुआओं में याद करना। क्या पता जन्नत मिले या न मिले। चलो अलविदा।’

अहमदाबाद में रहने वाले और पेशे से टेलर आयशा के पिता लियाकत अली ने बताया, ‘बेटी का निकाह 2018 में जालौर (राजस्थान) में रहने वाले आरिफ खान से हुआ था, लेकिन शादी के बाद से ही उसे दहेज के लिए प्रताड़ित किया जाने लगा था।

शादी के कुछ महीनों बाद ही आरिफ दहेज की मांग करते हुए आयशा को अहमदाबाद छोड़ गया था। बाद में रिश्तेदारों के समझाने पर आयशा को अपने साथ लेता गया, लेकिन 2019 में फिर से उसे हमारे पास (माता-पिता) छोड़ गया था। आरिफ और उसके घर वाले डेढ़ लाख रुपए की मांग कर रहे थे। किसी तरह पैसों का इंतजाम कर उन्हें दे भी दिया था।’

लियाकत अली का कहना है कि पैसे देने के बाद आरिफ के परिवार का लालच बढ़ता ही गया। कुछ महीनों पहले आरिफ फिर से आयशा को अहमदाबाद छोड़ गया था। आरिफ तो आयशा से फोन तक पर बात नहीं करता था। कुछ दिनों पहले आयशा ने गुस्से में खुदकुशी करने की धमकी दी। इस पर आरिफ ने जवाब दिया कि मरना है तो जाके मर जा। इसी बात से आयशा आहत थी और आखिरकार उसने आत्महत्या कर ली।

वीडियो मिलते ही परिवार ने पुलिस को सूचना दी। इसके बाद फायर ब्रिगेड और रेस्क्यू टीम ने साबरमती नदी से आयशा की लाश निकाली। आयशा ने 25 फरवरी को खुदकुशी की थी। लाश भी उसी दिन निकाली गई थी। लेकिन वीडियो शनिवार को सामने आया है। इशाकत खान पत्रकार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *